tilakdhari apne patni ko le jate huye
tilakdhari apne patni ko le jate huye

पत्नी का शव साइकिल पे ले जाना पड़ा । coronavirus update 2021

कोरोना वायरस (coronavirus) के दुसरे दौर के  खौफ के बिच जौनपुर के अम्बरपुर गाव में मानवता को शर्मशार करने वाली घटना सामने आई है बुखार से पीड़ित महिला की मौत हो गयी जबकि गाव वालो ने उसे कोरोना संक्रमित मान अंतिम संस्कार में हाथ बटाने से भी मना कर दिया , बुजुर्ग पति मज़बूरी में साईकिल के फ्रेम में पत्नी का शव टांगकर अकेले अन्त्योष्टि के लिए वाशुही नदी तट पर पंहुचा तो लोगो ने अंतिम संस्कार से रोक दिया , इसकी जानकारी होने पर पुलिस ने रामघाट भेजकर अंतिम संस्कार कराया , मुफ्लीसी में जिन्दगी गुजार रहे अम्बरपुर गाव निवासी तिलक धारी सिंह की पत्नी राजकुमारी (60 ) करीब एक सप्ताह से बुखार से पीड़ित थी इलाज के आभाव में सोमवार को उनकी सांसे थम गयी , कोरोना से मौत की आशंका में गाव का कोई भी व्यक्ति पीड़ित के दरवाजे पे सवेदना तक जताने नही पंहुचा , गाव वालो की इस सवेंदना शुन्यता से तिलक धारी सिंह को कोई उपाय नही सुझा तो पत्नी के शव को साइकिल की फ्रेम में लटकाया और गाव से कुछ दूर स्तिथ बसुही नदी के किनारे अंतिम संस्कार के लिए निकल पड़े , वह पहुचे तो ग्रामीणों ने शवदाह से रोक दिया , सुचना पर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मुन्ना राम घुसिया मौके पर पहुचे वाहन व अन्य सामना की इंतजाम कर शव को अन्त्योष्टि के लिए रामघाट भेजा , तिलकधरी सिंह के दो बेटे है जो रोजी रोटी कामने की गरज से कही बाहर रहते है।

ये भी पढ़े ——महाराष्ट्र में कोरोना अस्तपताल में आग लगने से हुई 13 लोग की मौत । coronavirus update 2021

नागपुर में एक बुजुर्ग ने अस्तपताल में अपना बेड एक ऐसे युवक के लिए छोड़ दिया।

ऐसे समय जब देश में चारो ओर अस्तपताल में बेड , ऑक्सीजन के मारामारी मची है तब नागपुर में एक बुजुर्ग ने अस्तपताल ने अपना बेड एक ऐसे युवक के लिए  छोर दिया जिसके छोटे – छोटे बच्चे है . इन बुजुर्ग को मरीज की पत्नी और बच्चो का ऑक्सीजन युक्त बेड के लिए अस्तपताल  स्टाफ से गीडगीडाना देखा नही गया और उन्होंने फ़ौरन बेड खाली कर दिया , संघ के पूर्व कार्यकर्त्ता के इस बेमिसाल त्याग की आज घर-घर में चर्चा हो रही है लेकिन कुछ तत्व इस घटना को झुठलाने में लगे है , घटना नागपुर महानगरपालिका द्वारा संचालित इंद्रा गाँधी अस्तपताल की है . बीते 21 अप्रैल को कोरोना पीड़ित 85 साल के नारयण दभादाकर शारीर में ऑक्सीजन का घटता अस्तर देख अपने दामाद के साथ अस्तपताल पहुचे थे , डॉक्टर ने उनकी जाँच की और तय किया की उन्हें अस्त्पतला में भर्ती करना जरुरी है , अस्तपताल में बिस्तरों की कमी थी फिर भी अपनों के बिच दभादाकर काका के नाम सेमशहुर इसी बुजुर्ग को देखते हुए उन्हें अस्तपताल में  बिस्तर मिल गयी,तभी अस्तपताल के गलियारे से कुछ शोर – शराब सुनाई दिया, ऑक्सीजन की कमी से जूझ  रहे दभादाकर काका के कानो ने सुना की किसी 40 साल व्यक्ति को बिस्तर नही मिल रहा है . उसकी पत्नी और बच्चे अस्तपताल के स्टाफ से ऑक्सीजन युक्त बेड देने के लिए मिन्नत कर रहे थे , कोई बेड खाली न होने के कारण स्टाफ से असहाय था ।

यह घटना देख कर दभादाकर काका ने तुरन्त अपनी बेटी आशावरी को फोने लगवाया और उन्हें अपने निर्णय से अवगत करा दिया , डॉक्टर ने भी बतया की ऐसा करना उनके जीवन के लिए खतरनाक हो सकता है ,लेकिन उन्होंने साफ काफ दिया की मै तो अपना जीवन जी चूका हु. मुझसे ज्यादा बेड की जरूरत  उस युवक को है , फिर से अम्बुलेंस बुलाई गयी , और दभादाकर काका अपने घर लौट आये . कुछ दिन बाद उनकी घर में ही मुर्त्यु हो गयी ।

चोर ने लोटाया कोरोना के 1710 डोज थाने के सामने रख गया बैग । coronavirus update 2021

अमेरिका में फिर गोलीबारी में 9 लोग की मौत। Indianapolis Fedex Shooting

दिल्ली में कोरोना के 16,699 नए मामले ,121 की मौत।corona update 2021 Delhi

मास्क बिना निकले तो 2000 रूपये जेब में रख ले । CORONA UPDATE 2021

 

About VIKASH YADAV

Check Also

covid 19 registration online

covid vaccine ke liye registration kaise karen|कोविड-19 का रजिस्ट्रेशन कैसे करें | covid 19 registration online

covid vaccine registration online : आज कोरोना के बढ़ते आकड़ो को देखते हुए और इस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: